पारदर्शी तरीके से किसानों तक निर्धारित बजट पहुचाना सरकार का अंतिम उद्देश्य : कृषि मंत्री

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- सदर प्रखंड स्थित कला भवन बक्सर में कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण’’आत्मा’’ द्वारा खरीफ महाभियान 2022 का शुभारम्भ किया गया। महाभियान का उद्घाटन कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया गया। मंच का संचालन अमान अहमद द्वारा किया गया।ads buxar

महाभियान को सम्बोधित करते हुए कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि आत्मा द्वारा आयोजित खरीफ अभियान का आगाज सराहनीय है। सरकार द्वारा कृषि विभाग के लिए निर्धारित बजट को पारदर्शी तरीके से किसानों तक पहुॅंचाना ही अंतिम उदेश्य के रुप में केन्द्रित कर सभी कृषि कर्मियों को कार्य करना होगा। तभी किसानों का सर्वांगीण विकास होगा। वर्तमान में सरकार द्वारा अनेक योजनाएं संचालित हैं, जिसके प्रचार-प्रसार हेतु नुक्कड़ नाटक, डॉक्यूमेन्टरी फिल्म, तकनीकी साहित्य, एलईडी युक्त रथ इत्यादि के माध्यम से कृषकों को जागरुक किया जा रहा है।

फसल अवशेष प्रबंधन पर की चर्चा

प्राकृतिक खेती से मृदा, वायुमंडल, पानी को स्वच्छ रखते हुए अमृत समान अनाज का उत्पादन किया जा सकता है। इस प्रकार के खेती से रसायनिक उर्वरकों पर निर्भरता कम होगी। माननीय मंत्री के द्वारा पंजाब राज्य का उदाहण देते हुए कहा कि रसायनिक उर्वरकों के अत्यधिक उपयोग से कैंसर ट्रेन चलाना पड़ा। अगर समय रहते हम जागरुक हो जाय तो ऐसी परिस्थिति उत्पन्न नहीं होगी। आगे उन्होंने फसल अवशेष प्रबंधन पर चर्चा करते हुए कहा कि किसान जानकारी के अभाव में रबी या खरीफ फसल की कटाई उपरांत फसलों के अवशेष को जला देते हैं, जिससे मृदा के बंजर होने के साथ-साथ वायुमंडल भी प्रदूषित हो रहा है। अगर अत्याधुनिक कृषि यंत्रों का प्रयोग कर फसल अवशेष को मवेशी के चारे के रुप में इस्तेमाल करें तो मृदा व वायुमंडल की रक्षा करते हुए लाभदायक पशुओं के चारे की पूर्ति कर सकते हैं।

3032 क्वींटल बीज अनुदानित दर पर उपलब्ध कराया जायेगा

जिला कृषि पदाधिकारी बक्सर ने बताया कि वर्तमान वितीय वर्ष में खरीफ फसल हेतु कुल 115463 हेक्टेयर आच्छादन का लक्ष्य है। आगे उन्होंने कहा कि जिले में खरीफ मौसम में कुल 3032 क्वींटल बीज अनुदानित दर पर उपलब्ध कराया जायेगा, जिसके लिए किसानों को डीबीटी पोर्टल पर ऑनलाईन आवेदन करना होगा। ऑनलाईन आवेदन के उपरांत उपादान शिविर में ओटीपी या बायोमैट्रिक प्रणाली का उपयोग कर किसानों को उन्नत किस्म का बीज मुहैया कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग की सभी योजनाओं में नियमानुसार विभागीय कार्यान्वयन अनुदेश के आलोक में किसानों को लाभान्वित किया जाना है। इसके लिए प्रखंड स्तर पर कार्यरत सभी कृषि कर्मी लक्ष्य आधारित कार्य करें, अन्यथा जिसके स्तर से सम्बंधित कार्य लंबित होगा, उस कर्मी पर दण्डात्मक कार्रवाई की जायेगी।

27 मई से 06 जून तक खरीफ महाभियान का आयोजन

आगामी 27 मई से 06 जून तक जिले के सभी प्रखंडो में प्रखंस्तरीय खरीफ महाभियान का आयोजन किया जायेगा। बीटीएम्,एटीम,कृषि समन्वयक व किसान सलाहकार को कृषक के बीच प्रखंस्तरीय खरीफ अभियान के प्रचार प्रसार की जवाबदेही दी गई है। पटना से नोडल पदाधिकारी के रुप में नामित उप निदेशक,उद्यान डॉ. राजेश कुमार ने खरीफ महाभियान पर प्रकाश डाला। खरीफ फसलों पर तकनीकी जानकारी केवीके,बक्सर के प्रधान एवं वरीय वैज्ञानिक हरिगोविंद, मृदा विशेषज्ञ डॉ देवकरण, पादप सुरक्षा विशेषज्ञ रामकेवल, व शष्य विशेषज्ञ मंधाता सिंह द्वारा दी गई।

महाभियान में जिला परिषद अध्यक्ष विद्या भारती, भाजपा पंचायती प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश भुवन, भाजपा जिलाध्यक्ष माधुरी कुॅंवर, जिला परिषद सदस्य बंटी शाही, भाजपा राज्य कार्यकारिणी सदस्य परशुराम चतुर्वेदी ने अपने-अपने विचार रखें। मौके पर सभी सहायक निदेशक, उप परियोजना निदेशक, बीएओ, जिलास्तरीय आत्माकर्मी, बीटीएम, एटीएम, किसान सलाहकार सहित बीएफएसी के अध्यक्ष व प्रगतिशील कृषक उपस्थित थे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!